Home बॉलीवुड

वो हॉलीवुड फिल्म जिसके कारण ‘मोगेम्बो’ बने थे अमरीश पुरी

Published:
SHARE

1/8हमें तो गर्व होना चाहिए

When Amrish Puri Yelled Aamir Khan Bollywood Flashback in Hindi

सोचिए जरा, आप जिस कलाकार की फिल्में बचपन से अपनी भाषा में देख रहे हैं। आप उसको विलेन बनते देखते हैं, पिता बनते देखते हैं मतलब कि आपने उसे कई कैरेक्टर्स प्ले करते देखा है। एकदम से उसकी हॉलीवुडिया फिल्म आ गई। जाहिर तौर पर इससे आपको खुशी होती है कि जिस एक्टर को आपने बचपन से देखा है कोई विदेशी भी उसे ऐसे ही देख रहा होगा। जी हां बात अमरीश पुरी की। उनसे जुड़ा एक दिलचस्प किस्सा बताने जा रहे हैं हम।

2/8नहीं थे अोम पुरी के भाई

amrish puri natak

बहुत से लोग आवाज और नाम मिलता-जुलता होने के कारण अमरीश पुरी को ओम पुरी का भाई समझ लेते थे, लेकिन ये सही नहीं है। अमरीश पुरी तो मदन पुरी और चमन पुरी के भाई थे।

3/8सेंसर बोर्ड ने बैन की थी फिल्म

amirish-on-set

अमरीश पुरी का नाम ही काफी है। फिल्मों के नाम तो दूर ही की बात हैं। विवादों में रही फिल्म ‘द इंडियाना जोन्स एंड द टेंपल आॅफ डूम’ में अमरीश पुरी ने काम किया था। पर सेंसर बोर्ड ने इंडिया में इस फिल्म पर बैन लगा दिया था। चलिए इसके पीछे की दास्तां बताते हैं। ये कहानी है अमरीश पुरी के उस हिस्से की जहां हॉलीवुड का एक डायरेक्टर उनके साथ काम करना चाहता था। जी हां, इस डायरेक्टर का नाम था स्टीवन स्पीलबर्ग। ‘जुरासिक पार्क’ जैसी बेहतरीन फिल्‍म बनाने वाले स्टीवन ने किसी तरह से अमरीश तक मैसेज पहुंचवाया। ये बात 1982 के आसपास की है। वो चाहते थे कि अमरीश पुरी अमेरिका आकर ऑडिशन दें।

4/8पर उन्होंने कर दिया इनकार

steven

स्टीवन… अमरीश को अमेरिका बुलाना चाहते थे, लेकिन अमरीश पुरी ने कहा कि जिसको मिलना है यहीं आकर मिलो। काफी व्यस्त शेड्यूल से समय निकालकर स्‍टीवन वो इंडिया आए। अमरीश पुरी से मुलाकात की। जो फिल्म वो बनना चाहते थे उसकी स्क्रि‍प्ट अमरीश पुरी ने पढ़ी। इसके बाद अमरीश पुरी इस नतीजे पर पहुंचे कि वो ये फिल्म नहीं करने वाले।

5/8रिचर्ड एटनबरो ने की सिफारिश

gandhi

स्पीलबर्ग को जब पता लगा कि अमरीश पुरी उनकी फिल्म में काम नहीं करने वाले तो वो काफी निराश हुए। लेकिन एक रास्ता था। रिर्चड एटनबरो। उनकी फिल्म ‘गांधी’ में अमरीश साहब ने काम किया था। फिर रिचर्ड ने जब सिफारिश की। तब जाकर ‘द इंडियाना जोन्स एंड द टेंपल आॅफ डूम’ में काम करने के लिए अमरीश राजी हुए।

6/8क्यों की थी फिल्म बैन?

mola-ram

विदेशों में तो इस फिल्म ने खूब वाहवाही बटोरी, लेकिन इंडिया में बात बन नहीं पाई। दरअसल, अमरीश पुरी इसमें तांत्रिक बने थे। एक ऐसा तांत्रिक जो नरबलि देता है। तर्क दिया गया जनता इस छवि को हजम नहीं कर पाती। लिहाजा, सेंसर बोर्ड ने फिल्म बैन कर दी।

7/8हुई थी काफी आलोचना

drinking-kali

इस फिल्म में अमरीश पुरी के अलावा रोशन सेठ भी थे। इन दोनों कलाकारों की लोगों ने काफी आलोचना की थी। स्टीवन स्पीलबर्ग आज भी ये बात कहते हैं कि अमरीश पुरी जैसा एक्टर उन्होंने आज तक नहीं देखा। पुरी साहब ने इस फिल्म के लिए अपना सिर मुंडवाया था। वो घंटों रिहर्सल करते रहते थे इस रोल के लिए। इसमें उनके कैरेक्टर का नाम मोला राम था।

8/8इस फिल्म के बाद ही बन पाए ‘मोगेम्बो’

amrish puri

‘मिस्टर इंडिया’ में पहले ‘मोगेम्बो’ का किरदार अनुपम खेर को मिलने वाला था। पर जब अनिल कपूर ने ‘द इंडियाना जोन्स एंड द टेंपल आॅफ डूम’ देखी तो अपने भाई बोनी कपूर और डायरेक्टर शेखर कपूर से अमरीश पुरी को लेने की सिफारिश की। तब जाकर ‘मोगेम्बो खुश हुआ’ था।

SHARE