Home मूवी रिव्यू

Blackmail Review: कहानी बेजोड़, इरफान की दमदार एक्‍ट‍िंग

Published:
SHARE
ब्‍लैकमेल मूवी र‍िव्‍यु

ब्‍लैकमेल

रेटिंग:

4/5

कास्‍ट:

इरफान, कृति कुल्‍हाड़ी, दिव्‍या दत्ता, अरुणोदय सिंह

डायरेक्‍टर:

अभ‍िनव देव

समय:

2 घंटे 19 मिनट

जॉनर:

कॉमेडी-थ्र‍िलर

लैंग्‍वेज:

हिंदी

समीक्षक:

रचित गुप्‍ता

1/9कहानी

देव (इरफान खान) सेल्‍समैन है। टॉयलेट पेपर बेचता है। उसकी शादीशुदा जिंदगी थोड़ी नीरस सी हो गई है। देव इसे फिर से इसमें रस भरने की कोश‍िश करता है। एक शाम वह तय करता है कि काम से जल्‍दी घर लौटेगा। बीवी के लिए गुलाब का गुलदस्‍ता लेगा। थोड़ा रोमांस का मूड होगा। लेकिन जब वह घर पहुंचता है तो बीवी को बिस्‍तर पर किसी और आदमी के साथ पाता है। इसके बाद स‍िलसिलेवार तरीके से कई घटनाएं घटती हैं, जो कहानी को मजेदार भी बनाती हैं और बेरहम भी।

2/9समीक्षा

Blackmail Movie Review in Hindi

एक आम मध्‍यमवर्गीय आदमी अपनी ही परिस्‍थ‍ितियों का श‍िकार है। वह अधीनता वाला जीवन जीता है। लेकिन जब जिंदगी के साथ मतभेद की स्‍थ‍िति बनती है तो वह देव की तरह अपराध करने के लिए संघर्ष करने लगता है। वह भाग्य से नाता तोड़ लेता है। ‘ब्‍लैकमेल’ की कहानी का यही आधार है। यह उथल-पुथल भरी आम जिंदगी में कई ट्व‍िस्‍ट के जरिए बेजोड़ कहानी कहती है। इसमें आम आदमी की रोजमर्रा की समस्‍याएं जैसे कि ईएमआई, लोन और असफल रिश्‍तों की बानगी भी है।

3/9…और शुरू होती है ब्‍लैमेलिंग की चेन

Blackmail Movie Review in Hindi

जब देव को अपनी पत्‍नी की बेवफाई के बारे में पता चलता है, तो वह उसके प्रेमी रंजीत (अरुणोदय स‍िंह) को ब्‍लैकमेल करता है। रंजीत बाद में देव की पत्‍नी को ही ब्‍लैकमेल करने लगता है। कहानी में ड्रामा तब और बढ़ जाता है, जब देव की ज‍िंदगी के बाकी कैरक्‍टर्स को भी उसकी ब्‍लैकमेल‍िंग के प्लान्‍स के बारे में जानकारी हो जाती है। अब हर किसी का मकसद क‍िसी न क‍िसी को ब्‍लैकमेल करना बन जाता है। जाहिर है ढेर सारे कैरेक्‍टर्स और ढेर से सारे ब्‍लैकमेल के कारण कहानी में परिस्‍थ‍ितिजन्‍य हास्‍य पैदा होता है।

4/9मजेदार है फिल्‍म की कहानी

Blackmail Movie Review in Hindi

परवेज शेख इससे पहले ‘क्‍वीन’ और ‘बजरंगी भाईजान’ के राइटर रह चुके हैं। उन्‍होंने ‘ब्‍लैकमेल’ के लिए भी बेहतरीन कहानी लिखी है। कॉमेडी सीन्‍स पर मेहनत दिखती है। वह इसमें कुशलतापूर्वक सफलत भी हुए हैं। फ‍िल्‍म का पहला भाग थोड़ा धीमा है। कहानी के प्‍लॉट को सेट करने में टाइम लिया गया है। लेकिन इसके बाद का ह्यूमर काफी एंटरटेन‍िंग है।

5/9धीरे-धीरे पकड़ बनाती है फिल्‍म

इंटरवल के बाद आपको खूब हंसी आती है। जैसे-जैसे प्‍लॉट खुलता है, नए कैरेक्‍टर्स की एंट्री होती है। स्‍थ‍ित‍ियां मजेदार होती जाती हैं। अभ‍िनव देव का डायरेक्‍शन पैसा वसूल है। अपनी ब्‍लैक कॉम‍िडी ‘डेल्ही बेली’ के बाद उन्‍होंने एक बार फ‍िर इस जोनर हाथ आजमाया है और काफी हद तक सफल रहे हैं। फ‍िल्‍म में टॉयलेट वाला भी एक सीन है, जो आपको ‘डेल्ही बेली’ की याद द‍िलाता है। अमित त्र‍िवेदी का संगीत फिल्‍म में सीन के हिसाब से फ‍िट बैठता है।

6/9इरफान की जबरदस्‍त एक्‍ट‍िंग

Blackmail Movie Review in Hindi

फ‍िल्‍म के डायलॉग्‍स में कॉमेडी पंच है। गाने अच्‍छे हैं। खासकर ‘सटासट’ सॉन्‍ग अच्‍छा बन पड़ा है। कुल म‍िलाकर ‘ब्‍लैकमेल’ का ह्यूमर और प्रेजेंटेशन बेहतरीन है। एक्‍ट‍िंग की बात करें तो इरफान ने सॉलिड परफॉर्मेंस दी है। वह ना ही अपने बॉस और ना ही अपनी बेवफा पत्नी के साथ खड़े होते हैं। ऑफिस के एक औसत कर्मचारी के रूप में वह जंचते हैं। उनके कैरेक्‍ट में एक लाचारी है, जिसे वह पर्दे पर बखूबी निभा जाते हैं।

7/9अरुणोदय, दिव्‍या और कीर्ति भी फिट

बैड बॉय के रूप में अरुणोदय सिंह का किरदार काफी गुस्‍सैल है। यह उनके कर‍ियर का अब तक का सबसे बेहतरीन काम कहा जा सकता है। रंजीत की पत्‍नी के रूप में द‍िव्‍या दत्‍ता एंटरटेनिंग हैं। कीर्ति कुल्हाड़ी ने भी अपना क‍िरदार अच्‍छे से न‍िभाया है।

8/9लंबे समय बाद आई है मजेदार फिल्‍म

Aiyaary Release Date Postponed No Clash With Padman News in Hindi Parmanu Hichki Veerey ki Wedding Gets New Release Date News in Hindi

‘ब्लैकमेल’ की सबसे बड़ी खासियत इसका प्‍लॉट है। यह डार्कनेस और फन के बीच के बैलेंस को अच्‍छे तरीके से मैनेज करता है। फ‍िल्‍म कहीं भी अपने ब्‍लैक ह्यूमर को नहीं छोड़ती है। लंबे समय बाद ऐसी मजेदार फिल्म आई है।

9/9देख‍िए, ‘ब्‍लैकमेल’ का ट्रेलर-