Home मूवी रिव्यू

Kaala Review: दिल लूट लेते हैं नाना पाटेकर और रजनीकांत

Published:
SHARE
काला मूवी र‍िव्‍यू

काला

रेटिंग:

3.5/5

कास्‍ट:

रजनीकांत, हुमा कुरैशी, नाना पाटेकर, ईश्‍वरी राव

डायरेक्‍टर:

पा रंजीत

समय:

2 घंटे 46 मिनट

जॉनर:

ड्रामा, क्राइम

लैंग्‍वेज:

तेलुगू, हिंदी

समीक्षक:

सुब्रमण‍यम सूर्यनारायण

1/10कहानी

‘काला’ तिरुनेलवेली के एक गैंगस्टर की कहानी है, जो धारावी का राजा है। वह इलाके आम लोगों की जमीन ताकतवर नेताओं और भू-माफिया से जमीन को सुरक्षित रखने की लड़ाई लड़ता है।

2/10समीक्षा

Kaala Movie Review in Hindi

डायरेक्टर पा. रंजीत इस बार रजनीकांत के स्‍टारडम के जरिए एक संदेश देने आए हैं- जमीन आम आदमी का अधिकार है। कहानी साधारण सी है, जिसमें तमिलनाडु से आया एक प्रवासी मुंबई की मशहूर झुग्गी बस्ती धारावी में बस जाता है। वह पूरे इलाके को अपना घर मानता है और इसे बेहतर बनाने में जुट जाता है। वह धीरे-धीरे शहर पर राज करने लगता है। लेकिन तभी विलेन की एंट्री होती है, दुष्ट नेता और जो कि एक भू-माफिया के रूप में।

3/10अच्‍छाई और बुराई की लड़ाई

Kaala Movie Review in Hindi

इन दोनों की नजर धारावी की जमीन पर है। अब जंग शुरू होती है। सच और झूठ की। अच्‍छाई और बुराई की। ‘काला’ एक एनिमेटेड स्टोरी कहने वाली डिवाइस से शुरू होती है। ठीक वैसे ही जैसा ‘बाहुबली’ में नजर आया था। यहां जमीन की अहमियत के साथ-साथ ताकत की भूख गरीबों का दमन करती है। इसके बाद फिल्म की कहानी तेजी से मौजूदा समय में आ पहुंच आती है। भ्रष्ट नेता और भू-माफिया धारावी को तबाह कर उसे डिजिटल धारावी और मुख्‍य मुंबई में बदलना चाहते हैं।

4/10‘कबाली’ जैसा लव ट्रैक भी

Rajinikanth's Kaala Avoids Clash With Salman Khan's Race 3 News in Hindi

सुपरस्टार रजनीकांत का ‘काला’ के नाम से एक छोटा-सा इंट्रोडक्शन दिया गया है। फिल्‍म में उनका पूरा नाम कारीकालन है। कहानी में रफ्तार तब आती है जब यह तय हो जाता है कि काला धारावी का किंग बन चुका है और कोई उससे टकराने का दम नहीं रखता। जरीना (हुमा कुरैशी) और काला के बीच लव ट्रैक ठीक उसी अंदाज में पेश किया जाता है जैसा कि कबाली-कुमुदावली में दिखाया गया था। लेकिन जल्द ही रजनीकांत को अपने वर्तमान का एहसास हो जाता है और फिर एक्स-लवर्स खूबसूरत डिनर सीन में नजर आते हैं।

5/10फैन्‍स के लिए ट्रीट है फिल्‍म

Kaala Movie Review in Hindi

रजनीकांत और हुमा दोनों की एक्‍ट‍िंग जबरदस्‍त है। इंटरवल से पहले का हिस्सा टिपिकल मसाला स्टंट सीक्वेंस से भरा हुआ है। इसमें मुंबई फ्लाईओवर (वीएफएक्स तकनीक भी) के सीन हैं। यह सीन आपको बीते जमाने के रजनीकांत की याद दिला देगा, जो उनके फैन्स के लिए एक ट्रीट की तरह है। फिल्‍म में असली धमाल तब शुरू होता है जब हरि दादा (नाना पाटेकर) यानी हरिनाथ देसाई की एंट्री होती है।

6/10नाना और रजनीकांत के बीच जबरदस्‍त संवाद

Kaala Movie Review in Hindi

इंटरवल के बाद फिल्‍म की कहानी का दर्शकों को पहले ही अंदाजा लग जाता है। हरि दादा बदला लेना चाहता है और वह काला से उसका प्यार छीन लेता है। लेकिन धीरे-धीरे रजनीकांत फिल्म में अपनी स्टाइल लेकर आते हैं। वह इस बारे में बात करते हैं कि जब तक विरोध न हो तब तक गरीबों को दबाया जाता है। वह अपने लोगों से अपने शरीर को एक हथियार की तरह इस्तेमाल करने की सलाह देते हैं।

7/10ये है काला के बदला लेने का अंदाज

Kaala Movie Review in Hindi

काला के कहने पर धारावी के लोग हड़ताल पर जाते हैं। मुंबई का कामकाज ठप्प हो जाता है, क्योंकि झुग्गियों में रहने वाले ज्यादातर लोग शहर चला रहे हैं। इनमें टैक्सी ड्राइवर्स, म्युनिसिपैलिटी स्टाफ, हॉस्पिटल स्टाफ जैसे लोग शामिल हैं। मुंबई की रफ्तार अचानक थम जाती है।

8/10अच्‍छी एक्‍ट‍िंग, दमदार डायलॉग्‍स

Kaala Movie Review in Hindi

फिल्म में नाना पाटेकर और रजनीकांत का मुकाबला देखने लायक है। दोनों के बीच के सीन पैसा वसूल हैं। रजनी को हिंदी और मराठी में सुनकर उनके फैन्स जरूर खुश होंगे। फिल्‍म में काला की पत्नी सेल्वी के रूप में ईश्वरी राव और काला के बेटे की गर्लफ्रेंड के रूप में पुयल यानी अंजली पाटि‍ल हैं। दोनों ने अपने किरदार को खूबसूरती के साथ निभाया है।

9/10यह टिपिकल रजनी-रंजीत फिल्‍म है

Kaala Movie Review in Hindi

‘काला’ का थीम सॉन्ग पहले से ही फेमस हो चुका है, जिसमें रजनीकांत ने बतौर राइटर डायरेक्टर शानदार परफॉर्म किया है। ‘काला’ का क्लाइमैक्स बेहतरीन है। रजनीकांत के टेक्निकल क्रू (सिनेमेटोग्राफर मुरली, म्यूजिक डायरेक्टर संतोष नारायण, एडिटर श्रीकर प्रसाद और आर्ट डायरेक्टर रामालिंगम) ने बेहतरीन काम किया है। यह 51 फीसदी रजनी और 49 फीसदी रंजीत की फिल्‍म है।

10/10यहां देखें, ‘काला’ का ट्रेलर हिंदी में