Home फोटो गैलरी

सपनों के घर में नरेंद्र झा ने ली अंतिम सांसें, ‘बेटे’ ने सुनाई दास्‍तान

Published:
SHARE

1/9असल जीवन में बेहद सौम्‍य इंसान थे नरेंद्र झा

RIP Narendra Jha Actor Abhilash Kumar Shares His Bond With The Actor Ghayal Once Again News in Hindi

बॉलीवुड के दिग्‍गज अभ‍िनेता नरेंद्र झा अब हमारे बीच नहीं हैं। बुधवार 14 मार्च 2018 को मुंबई से सटे वाडा में सुबह 5 बजे उन्‍होंने अंतिम सांसें लीं। उनकी मौत की वजह कार्डियक अरेस्‍ट बताई गई है। नरेंद्र महज 55 साल के थे। अपनी बेजोड़ एक्‍ट‍िंग और दमदार आवाज से पहचान बनाने वाले नरेंद्र पर्दे पर भले ही हमेशा इंटेंस दिखते हों, लेकिन असल जिंदगी में वह बेहद सौम्‍य, सरल और मिलनसार स्‍वभाव के थे। एक ऐसा इंसान जो अपने को-स्‍टार्स के लिए बड़े भाई जैसा था।

2/9ऑनस्‍क्रीन बेटे ने कहा- मैंने आज एक रिश्‍ता खोया है

RIP Narendra Jha Actor Abhilash Kumar Shares His Bond With The Actor Ghayal Once Again News in Hindi

बिहार के मधुबनी जिले से ताल्‍लुक रखने वाले नरेंद्र झा ने 2016 में सनी देओल के सा‍थ ‘घायल वन्‍स अगेन’ में काम किया। इस फिल्‍म में विलेन का किरदार निभाया था अभ‍िलाष कुमार ने। वह नरेंद्र झा (राज बंसल) के बिगड़ैल बेटे कबीर के किरदार में थे। अभ‍िलाष कहते हैं, ‘मेरी पहली फिल्‍म के साथ ही मैंने एक बड़ा भाई पाया था। ऑनस्‍क्रीन वो मेरे पिता बने थे, लेकिन ऑफस्‍क्रीन वह मेरे बड़े भाई की तरह थे। नरेंद्र जी का जाना मेरे लिए एक अमूल्‍य रिश्‍ते के खोने जैसा है, जिसकी भरपाई नहीं हो सकती। मैंने उनसे बहुत कुछ सीखा, वह मेरे लिए एक्‍ट‍िंग की स्‍कूल भी थे।’

3/9घर नहीं, सपना था फार्महाउस

RIP Narendra Jha Actor Abhilash Kumar Shares His Bond With The Actor Ghayal Once Again News in Hindi

‘घायल वन्‍स अगेन’ की शूटिंग करीब एक साल में पूरी हुई थी। अभ‍िलाष बताते हैं, ‘शूटिंग शुरू होने के शुरुआती दिनों में मेरा और नरेंद्र सर का बहुत अच्‍छा रैपो हो गया था। हम को-स्‍टार्स से ज्‍यादा भाई की तरह बन गए थे। हम घंटों बातें करते थे और उनकी बातों में तब हर दिन उनका वाडा में बन रहा फार्महाउस होता था। वो एक घर से ज्‍यादा सपना था उनके लिए।’

4/9शहर की भीड़ से अलग ये थी उनकी चाहत

RIP Narendra Jha Actor Abhilash Kumar Shares His Bond With The Actor Ghayal Once Again News in Hindi

बकौल अभ‍िलाष, ‘हर दिन हमारी बातचीत में फार्महाउस जरूर रहता था। वह इसके लिए बहुत एक्‍साइटेड थे। उन्‍होंने इसके लिए हर चीज बहुत शौक से चुना था। एक बार बातों बातों में नरेंद्र सर ने कहा था- यार अभ‍िलाष, ये फार्महाउस नहीं मेरा सपना है। मैं अपने जिंदगी के सुकून भरे दिन यहीं बिताना चाहता हूं। शांति और चैन के साथ। शहर की भीड़ से अलग। ठंडी हवा में। अपनों के बीच।’

5/9गिटार बजाने और गाने का था शौक

RIP Narendra Jha Actor Abhilash Kumar Shares His Bond With The Actor Ghayal Once Again News in Hindi

नरेंद्र झा के माता-पिता चाहते थे कि वो आईएएस बने। लेकिन नरेंद्र ने एक्‍ट‍िंग की राह चुनी। उन्‍होंने साल 1992 में एक्‍ट‍िंग के डिप्‍लोमा कोर्स में दाख‍िला लिया और यहीं से उनकी जर्नी शुरू हुई। एक्‍ट‍िंग से इतर नरेंद्र झा को गिटार बजाने और गाने का भी बहुत शौक था। अभ‍िलाष बताते हैं, ‘अक्‍सर शूट खत्‍म होने के बाद लोग को-स्‍टार्स को भूल जाते हैं। इंडस्‍ट्री में सबकुछ प्रोफेशनल अंदाज में होता है। लेकिन नरेंद्र सर ऐसे नहीं थे। वह सबको फोन करते, घर बुलाते, पार्टी करते। हम गिटार पर घंटों प्रैक्‍ट‍िस करते। जैमिंग करते थे।’

6/9शराब और सिगरेट से थे कोसों दूर

RIP Narendra Jha Actor Abhilash Kumar Shares His Bond With The Actor Ghayal Once Again News in Hindi

सिनेमा की दुनिया और आज के लाइफस्‍टाइल में पीना-पिलाना जहां आम बात है, वहीं नरेंद्र झा शराब और सिगरेट से कोसों दूर थे। अभ‍िलाष कहते हैं, ‘नरेंद्र सर को हॉस्‍प‍िटैलिटी का बहुत शौक था। मेहमानवाजी तो जैसे उनका पैशन था। मजेदार बात यह थी कि उनकी पार्टियों में दोस्‍तों के लिए खाने-पीने की पूरी व्‍यवस्‍था होती थी, लेकिन वो खुद शराब की एक बूंद तक नहीं लेते थे।’

7/9इफर्टलेस एक्‍ट‍िंग में रखते थे भरोसा

RIP Narendra Jha Actor Abhilash Kumar Shares His Bond With The Actor Ghayal Once Again News in Hindi

नरेंद्र झा इफर्टलेस एक्‍ट‍िंग को तरजीह देते थे। वह कहते थे, ‘कैमरे के सामने जब भी तुम्‍हें एहसास हो कि तुम एक्‍ट‍िंग कर रहे हो, तुरंत रीटेक करो। खुद को यह नहीं लगना चाहिए कि तुम एक्‍ट‍िंग कर रहे हो।’ अभ‍िलाष बताते हैं, ‘नरेंद्र सर घंटों रिहर्स करते थे। शूटिंग लोकेशन से अलग भी मिलने पर कई बार हमने साथ में रिहर्स किया है। हम वैनिटी वैन में बैठकर सीन डिस्‍कस करते थे। कैमरे के सामने जाने के बाद वह अलग इंसान हो जाते थे। तब वह नरेंद्र झा नहीं होते थे।’

8/9‘एक बेटा अपने बाप पर कभी हाथ नहीं उठाता’

RIP Narendra Jha Actor Abhilash Kumar Shares His Bond With The Actor Ghayal Once Again News in Hindi

‘घायल वन्‍स अगेन’ की शूटिंग का किस्‍सा साझा करते हुए अभ‍िलाष कहते हैं, ‘एक सीन में मुझे यानी कबीर को अपने पिता राज बंसल यानी कि नरेंद्र सर पर हाथ उठाना था। वो मेरे बड़े भाई की तरह थे। काफी सीनियर थे इसलिए मैं थोड़ा सहमा हुआ था। मैं हाथ तो उठा रहा था, लेकिन चेहरे पर एग्रेसन नहीं आ रहा था। तब नरेंद्र सर मुझे साइड में ले गए। उन्‍होंने कहा- एक बेटा होश में कभी अपने बाप पर हाथ नहीं उठा सकता। ऐसा करने के लिए उसके अंदर पागलपन जैसा गुस्‍सा होना चाहिए। तुम्‍हें उस पागलपन को चेहरे पर लाना है। बाकी सब भूल जाओ।’

9/9‘इतने रीटेक हुए कि मेरे हाथ सूज गए’

RIP Narendra Jha Actor Abhilash Kumar Shares His Bond With The Actor Ghayal Once Again News in Hindi

अभ‍िलाष बताते हैं, ‘नरेंद्र सर के समझाने के बाद मैंने सीन शूट किया। लेकिन वो उन्‍हें परफेक्‍ट नहीं लगा। उन्‍होंने मुझसे कई बार रीटेक करवाया। हम सभी को लग रहा था कि अब सीन ठीक शूट हुआ है। लेकिन नरेंद्र सर तब तक वहां डटे रहे, जब तक सीन उनको परफेक्‍ट नहीं लगा। मैंने तब मेटलिक घड़ी पहन रखी थी। कई रीटेक्‍स और घड़ी के घर्षण के कारण मेरे हाथ सूज गए थे। बाद में उन्‍होंने मुझसे कहा- यह तुम्‍हारी पहली फिल्‍म है। मैं नहीं चाहता इसमें तुम्‍हें कल को कोई कमी लगे।’ अभ‍िलाष कहते हैं, ‘मैं उन्‍हें हमेशा मिस करने वाला हूं। उनकी दी गई हर सीख को जिंदगी में उतारने की कोश‍िश करूंगा।’