Home मूवी रिव्यू

Kahaani 2 Review: थ्रि‍लर पसंद है तो देख आओ

Updated: Dec 09, 2016 07:59 am
SHARE

Kahaani 2 Review in hindi रेटिंग: 3.5 स्टार
कास्ट: विद्या बालन, अर्जुन रामपाल, जुगल हंसराज
डायरेक्शन: सुजॉय घोष
समय: 2 घंटे 10 मिनट
समीक्षक: मीना अय्यर (टीओआई)

क्या है फिल्म की कहानी?

विद्या बालन का इस फिल्म में नाम विद्या सिन्हा है। फिल्म में उनका सिर्फ एक ही जुनून है। वो कमर से नीचे पैरालाइजड अपनी बेटी मिनी को फिर से अपने पैरों पर चलते हुए देखना चाहती हैं। लेकिन क्‍या यह सब इतना आसान है? क्योंकि फिल्म का एक पक्ष विद्या सिन्हा को कलिंपोंग की दुर्गा रानी सिंह बताता है, जो किडनैपिंग और मर्डर केस के लिए वॉन्टेड है।

‘कहानी-2’ रिव्यू- सुजॉय घोष ने यह सीक्वल चार साल बाद बनाया है। फिल्म जिज्ञासा पैदा करने के लिए ठीक है, लेकिन फिल्म के दर्शकों को पकड़ नहीं पाती। ‘कहानी-2’ में पहली वाली ‘कहानी’ जैसा तीखापन नहीं है। विद्या सिन्हा का किरदार बहुत गहरा है। दर्शक उसमें डूब सकते हैं।

कैसा है ट्रीटमेंट?

Kahaani 2 Vidya Balan In Hindiएक मध्यम परिवार की तरह एक मां अपनी पैरालाइजड बच्ची को संभाल रही है। बच्ची और मां दोनों पश्चिम बंगाल के चंदन नगर में रहते हैं। फिर एक दिन मिनी गुम हो जाती है। मां का एक्सिडेंट हो जाता है। इसके बाद एंट्री होती है इंद्रजीत सिंह (अर्जुन रामपाल) की, जो सब इंस्‍पेक्‍टर है। तफ्तीश करने पर इंद्रजीत को पता चलता है कि इस महिला (विद्या) का चेहरा दुर्गा रानी से मिलता है। वही दुर्गा रानी सिंह जो किडनैपिंग और मर्डर केस में वॉन्टेड है।

यहां फिल्म एक दोराहे पर खड़ी हो जाती है। किरदारों और दर्शकों दोनों को ही फिल्म असमंजस में डाल देती है। फिल्म रहस्यमई होती जाती है।

कहां हुई है शूटिंग?

Kahaani 2 Arjun Rampal Performance Review in hindi

फिल्म के शूट का ज्यादातर हिस्सा रात को शूट किया गया है। सभी लोकेशन असली हैं। कोलकाता से प्यार करने वालों को फिल्म अच्छी लगेगी। बैकग्राउंड स्कोर और कैमरा दोनों साथ-साथ चलते हैं।

विद्या बालन इसमें सादे लुक में हैं। अर्जुन रामपाल एक अच्छे पुलिसवाले और एक अच्छे पति का किरदार निभा रहे हैं। अगर थ्रि‍लर पसंद है तो फिल्म आपके लिए है।