Filmipop

महिमा चौधरी को जिस डायरेक्टर ने दिया ब्रेक, उसी ने किया बुली, छीन ली दूसरी फिल्म, यहां तक कि नाम भी बदलवा दिया?

Edited by सोनम कनौजिया | Hindi Filmipop | Updated: 26 May 2023, 3:08 pm
महिमा चौधरी और सुभाष घई की 'लड़ाई'
महिमा चौधरी और सुभाष घई की 'लड़ाई'
26 साल पहले एक फिल्म रिलीज हुई थी, नाम था 'परदेस'। इसमें शाहरुख खान तो थे ही, लीड एक्ट्रेस के रोल में न्यूकमर महिमा चौधरी नजर आई थीं। जब ये फिल्म रिलीज हुई तो हर तरफ महिमा छा गईं। उनकी खूबसूरती और एक्टिंग ने सभी का दिल जीत लिया था। लेकिन उनके और डायरेक्टर सुभाष घई के बीच सबकुछ ठीक नहीं था। महिमा ने आरोप लगाया था कि सुभाष ने दूसरे प्रोड्यूसर्स को मैसेज कर दिया था कि कोई उनके साथ काम ना करे। विज्ञापन निकलवा दिया था। बुली किया था। कई फिल्मों में रिप्लेस भी किया गया। महिमा के दावों को सुन सभी हैरान थे, क्योंकि उनका कहना था कि सुभाष के कहने पर ही उन्होंने अपना नाम रितु से बदलकर महिमा रखा था।
महिमा चौधरी म्यूजिक चैनल पर एक वीजे थीं, जब उन्हें निर्देशक सुभाष घई ने देखा और उन्हें 'परदेस' में लीड एक्ट्रेस के लिए साइन किया। हालांकि, एक थ्रोबैक इंटरव्यू में महिमा ने खुलासा किया कि सुभाष घई ने उन्हें परेशान किया था और यहां तक कि वो उन्हें कोर्ट तक भी घसीटकर ले गए थे। एक्ट्रेस ने ये भी दावा किया कि सुभाष घई ने निर्माताओं को उनके साथ काम न करने के मैसेज भेजे थे।

महिमा चौधरी ने लगाए थे आरोप

महिमा चौधरी को जिस डायरेक्टर ने दिया ब्रेक, उसी ने किया बुली, छीन ली दूसरी फिल्म, यहां तक कि नाम भी बदलवा दिया?

महिमा चौधरी की डेब्यू मूवी


महिमा चौधरी ने चौंकाने वाला खुलासा करते हुए कहा था, 'मुझे मिस्टर सुभाष घई ने बुली किया था। वो मुझे कोर्ट भी लेकर गए और चाहते थे कि मैं अपना पहला शो कैंसिल कर दूं। ये काफी तनावपूर्ण था। उन्होंने सभी प्रोड्यूसर्स को मैसेज दिया कि कोई भी मेरे साथ काम ना करे! अगर आप 1998 या 1999 में ट्रेड गाइड मैगजीन को उठाते हैं तो उन्होंने एक विज्ञापन दिया था, जिसमें कहा गया था कि अगर कोई मेरे साथ काम करना चाहता है तो वो पहले उनसे संपर्क करे। नहीं तो ये कॉन्ट्रैक्ट का उल्लंघन होगा। हालांकि, ऐसा कोई कॉन्ट्रैक्ट नहीं था, जिसमें कहा गया हो कि मुझे उनकी अनुमति लेनी होगी।'

फिल्म से कर दिया गया था रिप्लेस

महिमा को साल 1998 में फिल्म 'सत्या' में मनोज बाजपेयी के साथ काम करना था, लेकिन उनकी जगह उर्मिला मातोंडकर ने ले ली। इस बारे में बात करते हुए महिमा ने कहा कि उन्हें अपने रिप्लेसमेंट के बारे में भी नहीं बताया गया और केवल मीडिया से पता चला। उन्होंने कहा, 'वो मेरी दूसरी फिल्म होने वाली थी। मैंने साइनिंग अमाउंट लिया था। उसमें इतनी भी शालीनता नहीं थी कि वो मुझे या मेरे मैनेजर को फोन कर हकीकत से अवगत करा सके। मुझे प्रेस से पता चला कि उन्होंने मेरे बिना ही शूटिंग शुरू कर दी थी।'

सुभाष घई के कारण बदल दिया था नाम

महिमा चौधरी को जिस डायरेक्टर ने दिया ब्रेक, उसी ने किया बुली, छीन ली दूसरी फिल्म, यहां तक कि नाम भी बदलवा दिया?

परदेस मूवी को सुभाष घई ने डायरेक्ट किया था


क्या आप जानते हैं सुभाष घई की वजह से महिमा चौधरी ने अपना नाम भी बदला था? जी हां, आपने सही पढ़ा महिमा का असली नाम रितु चौधरी है, लेकिन सुभाष घई के अंधविश्वास की वजह से उन्होंने अपना नाम बदल लिया। वो उन एक्ट्रेसेस के साथ बड़े करियर की शुरुआत करने में विश्वास करते थे, जिनके नाम की शुरुआत एम अक्षर से होती है। इसलिए, उन्होंने अपना नाम बदलकर महिमा चौधरी रख लिया।

डायरेक्टर ने दी थी ये सफाई

दूसरी तरफ सुभाष घई ने महिमा के दावों को लेकर कहा था कि ये एक्ट्रेस और उनकी कंपनी के बीच कॉन्ट्रैक्ट को लेकर था। जब कोई न्यूकमर होता है तो उसे तीन फिल्मों के लिए साइन किया जाता है। हालांकि, महिमा के केस में इस नियम में बदलाव किया गया। उन्होंने अन्य बैनरों के साथ भी काम किया। सुभाष घई ने ये भी बताया कि उनकी और महिमा के बीच अभी भी अच्छी दोस्ती है।