Filmipop

eye yoga से दूर करें आंखों के स्ट्रेस, ओवर ऑल हेल्थ को बूस्ट करने में भी मिलती है मदद, जानें कैसे

Produced by Somanagouda Biradar | Hindi Filmipop | Updated: 25 Feb 2023, 3:45 pm
eye yoga से दूर करें आंखों के स्ट्रेस, ओवर ऑल हेल्थ को बूस्ट करने में भी मिलती है मदद, जानें कैसे
eye yoga से दूर करें आंखों के स्ट्रेस, ओवर ऑल हेल्थ को बूस्ट करने में भी मिलती है मदद, जानें कैसे
योग ने सेहत की चाबी के रूप में दुनिया भर के लोगों का ध्यान आकर्षित किया है। योग के नियमित अभ्यास से ऑर्गन फंग्शन में सुधार होता है और खुद को हेल्दी बनाये रखने में मदद मिलती है। लेकिन क्या आप जानते हैं कुछ योगासन आपकी आंखों के लिए भी काम करते हैं। इन योग को करने के लिए आपको किसी विशेष स्थान की भी आवश्यकता नहीं है।
आंखों के लिए योग क्या है?
नेत्र योग एक्सरसाइज जिसे नेत्र योग के रूप में जाना जाता है, ऐसे movements हैं जिनका उद्देश्य आपकी आंखों को सपोर्ट देने वाली मसल्स को टोन और कंडीशन करना है। नेत्र योग चिकित्सक अक्सर इसकी मदद से दृष्टि बढ़ाने, ड्राई आई के लक्षण को ठीक करने और आंखों के स्ट्रेस को कम करने की कोशिश करते हैं। वास्तव में, कुछ अध्ययनों से यह भी पता चलता है कि आंखों के योग का अभ्यास आंखों के फोकस में सुधार कर सकता है और आंखों के स्ट्रेस के सिंप्टम्स को कम कर सकता है।

आंखों के योग के प्रैक्टिस करने के फायदों के बारे में जानें:

ग्लूकोमा के लिए फायदेमंद

नेत्र योग प्रैक्टिस करने से आंख के intraocular pressure (IOP) को कम करने में मदद मिल सकती है। ग्लूकोमा, एक डिसऑर्डर है जो आपके visual nerve को नुकसान पहुंचाता है, इस योग के माध्यम से इसको धीमा किया जा सकता है।

आंखों का स्ट्रेस कम करें

आंखों के योग की प्रैक्टिस करने से आंखों के स्ट्रेस को रोकने और इलाज करने दोनों में मदद मिलती है। चूंकि स्ट्रेस और आंखों का स्ट्रेस जुड़ा हुआ है, आंखों के योग की प्रैक्टिस करने से दो तरह से फायदा हो सकता है: एक आंखों को हिलाने वाले मसल्स को stimulating और strengthening करने में मदद मिलती है दूसरा स्ट्रेस को कम करके दिमांग को शांत और फोकस रहने में सहायता मिलती है।

स्ट्रेस मैनेजमेंट

किसी भी प्रकार का योगाभ्यास जो छोटी गतियों पर केंद्रित होता है, आपके शरीर को शांत करता है। हेल्दी स्ट्रेस मैनेजमेंट तकनीक हाई ब्लड प्रेशर के उपचार में सहायता करती है, जो ग्लूकोमा, सिरदर्द और चिंता से जुड़ी होती है, ये सभी आंखों के तनाव और अन्य ऑप्टिकल डिसऑर्डर को बढ़ा सकते हैं। हाई ब्लड प्रेशर ग्लूकोमा और सिरदर्द में भी योगदान देता है।

फोकस बनाता है

पास और दूर दोनों ही चीजों पर फोकस करना आंखों के योग का एक हिस्सा है। इसके अतिरिक्त, इसके लिए अपने टकटकी को बाएं से, ऊपर की ओर, फिर नीचे दाएं घुमाने की आवश्यकता होती है। इन मसल्स के एक्सरसाइज से आपका फोकस लेवल बढ़ता है।

नॉर्मल आई फंग्सन को आसान बनाना

नियमित योग अभ्यास आपकी दृष्टि को आराम देने में मदद कर सकता है और आपकी आंखों के नॉर्मल वर्क को आसान बना सकता है। यह आपकी दृष्टि को हेल्दी और मजबूत बना सकता है।

नेत्र योग व्यायाम

जब दोपहर के बीच में आपकी आंखें दर्द कर रही हों और किरकिरा हो रही हों, तो ये 5 आसान तरीके बेहद आरामदायक महसूस करा सकती हैं:

पामिंग

जब आप अपनी हथेलियों को एक साथ जोर से मालिश करते हैं और उन्हें अपनी आंखों पर रखते हैं, तो आपकी थकी हुई आंखों को बनने वाली एनर्जी से आराम मिलता है। इसके नियमित अभ्यास से आपके डार्क सर्कल हल्के हो जाएंगे।

अपने विजन को एडजस्ट करें

आंखों को घुमाते समय अपनी सांसों पर ध्यान दें। अगर आप चुपचाप बैठते हैं, अपनी आंखों को घुमाते हैं और लयबद्ध तरीके से सांस लेते हैं तो आपकी आंख की मांसपेशियां एक बार फिर से संतुलन में आ जाएंगी।

आठ का फिगर

आप फर्श पर 8 की एक विशाल आकृति की कल्पना करके और इसे क्लॉकवाइज और एंटीक्लॉकल वाइज दोनों में ट्रेस करके अपनी आंखों का फ्लैक्सिबिलिटी और कंट्रोल बढ़ा सकते हैं।

अपनी आंखों को स्ट्रेच करें

यदि आप जो देखते हैं उस पर ध्यान केंद्रित करते हुए अपनी आंखों को तिरछे दाएं और बाएं घुमाते हैं तो आपकी आंख के मसल्स स्ट्रॉन्ग और एक्टिव रहेंगे।

पलक झपकना

आप ड्राई आई का इलाज कर सकते हैं और अपनी आंखों को 10 से 15 बार, तीन बार झपकाकर हाइड्रेट कर सकते हैं। चूंकि जब हम कंप्यूटर स्क्रीन पर ध्यान केंद्रित कर रहे होते हैं तो हम अक्सर पर्याप्त रूप से पलकें नहीं झपका पाते हैं, ऐसे लोगों के लिए यह एक्टिविटी विशेष रूप से काम की है।