Home वीडियो

वडाली ब्रदर्स के वो गाने जो अपने आप में इबादत हैं

Published:
SHARE

1/10शुक्रवार को हुआ निधन

wadali

जो इंसान संगीत की समझ रखता है, या फिर संगीत का मुरीद है ऐसा हो नहीं सकता कि उनसे वडाली ब्रदर्स का नाम ना सुना हो। दो फनकारों की जोड़ी जब गाने बैठती, तो महफिल में लोगों के दिल नाच उठते। सूफियाना अंदाज। बुरी खबर तो ये है कि उस्ताद पुरन चंद वडाली के भाई उस्ताद प्यारेलाल वडाली का शुक्रवार की सुबह अमृतसर में 75 वर्ष की उम्र में निधन हो गया है। अब वो दुनिया में नहीं है। जोड़ी का एक बंदा जब चला जाता है तो खाली-खाली सा हो जाता है इंसान। जहां एकतरफ पुरन चंद जी अकेले हुए हैं वहां इस जोड़ी का संगीत सुने वाले भी इस वक्त तन्हा हैं। इस खालीपन को उनकी आवाज ही भर सकती है। सुनते हैं उनकी आवाज को, उनके गानों को।

2/10तू माने या ना माने (कोक स्टूडियो)

3/10चिठिए (कोक स्टूडियो)

4/10रब्ब दा दीदार

5/10असां ओहदा मुख वेख्णा

6/10असां ते तेनु रब्ब मनया (ओरिजनल वर्जन)

7/10आ मिल यार

8/10मुसाफिर प्यारे

9/10ए रंगरेज मेरे

10/10चरखा

SHARE