Home बॉलीवुड

Indu Sarkar: सेंसर बोर्ड पहुंची कांग्रेस, भंडारकर की सुरक्षा बढ़ी

Updated: Jul 18, 2017 09:59 am
SHARE

1/10नागपुर में कॉन्‍फ्रेंस के दौरान हंगामा

Indu Sarkar Row: Madhur Bhandarkar's Security Beefed Up After Protests News in Hindi

मधुर भंडारकर की फिल्‍म ‘इंदु सरकार’ को लेकर सियासी सुर तेज हो गए हैं। इमरजेंसी के दौर की कहानी कहती इस फिल्‍म का कांग्रेस कार्यकर्ता विरोध कर रहे हैं। पुणे के बाद अब नागपुर में भी फिल्‍म से जुड़ी प्रेस कॉन्‍फ्रेंस हंगामे के कारण रद्द करनी पड़ी। हाई वॉल्‍टेज सियासी ड्रामे को देखते हुए जहां एक ओर भंडारकर की सुरक्षा बढ़ा दी गई है, वहीं कांग्रेस कार्यकर्ता फिल्‍म सेंसर बोर्ड के दफ्तर पहुंचे हैं।

2/10कांग्रेस कार्यकर्ताओं का विरोध प्रदर्शन

Indu Sarkar Row: Madhur Bhandarkar's Security Beefed Up After Protests News in Hindi

रविवार को नागपुर के अंबाझरी स्थित होटल पोर्ट-ओ-गोमेज में यह प्रेस कॉन्फ्रेंस होने वाली थी। लेकिन कॉन्फ्रेंस से ठीक पहले कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने विरोध प्रदर्शन शुरू कर दिया। विवाद बढ़ता देख कॉन्फ्रेंस रद्द हो गई और भंडारकार की टीम फिल्म का प्रमोशन नहीं कर पाई।

3/10निहलानी से मिलेंगे 14 कांग्रेसी

Indu Sarkar Row: Madhur Bhandarkar's Security Beefed Up After Protests News in Hindi

कांग्रेस कार्यकर्ता सोमवार को मुंबई में सेंसर बोर्ड के ऑफिस पहुंचे। वे बोर्ड के चीफ से मिलकर फिल्म के बारे में बात करना चाहते हैं। खबर लिखे जाने तक 14 प्रतिनिध‍ि‍यों को पहलाज निहलानी से मिलने की इजाजत दी गई है।

4/10इंदिरा-संजय की छवि को लेकर चिंता

Indu Sarkar Row: Madhur Bhandarkar's Security Beefed Up After Protests News in Hindi

बता दें कि फिल्म ‘इंदु सरकार’ तत्कालीन इंदिरा गांधी सरकार द्वारा लगाई इमरजेंसी पर आधारित है। इसमें इंदिरा गांधी और उनके बेटे संजय गांधी से मिलते-जुलते किरदार को दिखाया गया है। यही कारण है कि कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने फिल्म को लेकर आपत्ति जताई है। कार्यकर्ताओं का आरोप है कि फिल्म में इंदिरा गांधी और संजय गांधी की छवि खराब करने की कोशिश की गई है।

5/10वापस हवाईअड्डे लौट गए भंडारकर

Indu Sarkar Row: Madhur Bhandarkar's Security Beefed Up After Protests News in Hindi

रविवार को फिल्म के प्रमोशन के लिए पहुंचे फिल्म निर्माता मधुर भंडारकर को नागपुर में विरोध का जमकर सामना करना पड़ा। रविवार की सुबह भंडारकर होटल पोर्ट-ओ-गोमेज होने वाली प्रेसवार्ता में आने वाले थे। विरोध प्रदर्शन की भनक लगते ही वो सेंटर प्‍वॉइंट होटल से वापस सोनेगांव स्थित डॉ. बाबासाहब आंबेडकर अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डे पहुंच गए। नागपुर पुलिस ने मधुर भंडारकर और फिल्म की टीम की सुरक्षा के पुख्ता प्रबंध किए थे।

6/10सेंसर बोर्ड ने दिए 14 कट्स के सुझाव

Indu Sarkar Row: Madhur Bhandarkar's Security Beefed Up After Protests News in Hindi

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, मधुर की इस फिल्म को अभी तक सेंसर बोर्ड से सर्टिफिकेट नहीं मिला है। यह फिल्‍म 28 जुलाई को रिलीज होने वाली है। सेंसर बोर्ड ने इस फिल्म को लेकर दो डिसक्लेमर लगाने और साथ ही 14 कट्स लगाए जाने की बात कही थी। मधुर एक डिसक्लेमर लगाने के लिए तैयार हैं, लेकिन वे बाकी कट्स के लिए तैयार नहीं हैं।

7/10‘कांग्रेस इसे कभी बर्दाश्‍त नहीं करेगी’

Indu Sarkar Row: Madhur Bhandarkar's Security Beefed Up After Protests News in Hindi

नागपुर में जहां कार्यकर्ताओं ने पहले प्रदर्शन किया, वहीं बाद में होटल सेंटर प्‍वॉइंट के सामने चाय ठेले जमा हो गए। पुलिस ने उन्‍हें हिरासत में लेने की बात की, तो नागपुर कांग्रेस शहर अध्‍यक्ष विकास ठाकरे मध्‍यस्‍था करने पहुंचे। इसके बाद मामला शांत हुआ। ठाकरे ने कहा, ‘नागपुर के किसी भी सिनेमाघर में इस फिल्म को प्रदर्शित नहीं होने दिया जाएगा। यह फिल्म प्रदर्शित करने से पहले हमारे हाईकमान को दिखाना चाहिए था। यह देश की महान नेता को बदनाम करने का षड्यंत्र है, जिसे कांग्रेस के नेता, कार्यकर्ता बर्दाश्त नहीं करेंगे।’

8/10मधुर भंडारकर ने राहुल गांधी को किया ट्वीट

Indu Sarkar Row: Madhur Bhandarkar's Security Beefed Up After Protests News in Hindi

मधुर भंडाकर ने कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी को टैग करते हुए एक ट्वीट किया था। उन्‍होंने लिखा, ‘प्रिय राहुल गांधी, पुणे के बाद आज मुझे नागपुर की प्रेस कॉन्फ्रेंस को भी रद्द करना पड़ा है। क्या आप इसे गुंडागर्दी नहीं कहेंगे? क्या मुझे अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता नहीं है?’ ये ट्वीट उन्होंने रविवार (16 जुलाई 2017) को किया है।

9/10सिंध‍िया ने फिल्‍म को बताया प्रायोजित

Indu Sarkar Row: Madhur Bhandarkar's Security Beefed Up After Protests News in Hindi

इस पूरे मामले पर कांग्रेस के नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा, ‘फिल्म के पीछे कौन लोग हैं ये सभी जानते हैं। इसी वजह से फिल्म में तथ्यों को गलत तरीके से पेश किया गया है। ऐसा लगता है कि ये एक प्रायोजित फिल्म है।’

10/10पहले भी कांग्रेस को रही है आपत्त‍ि

Indu Sarkar Row: Madhur Bhandarkar's Security Beefed Up After Protests News in Hindi

गौरतलब है कि इमरजेंसी को लेकर बनी फिल्मों पर कांग्रेस और गांधी परिवार का विरोध नया नहीं है। इससे पहले 1975 में मशहूर फिल्मकार गुलजार की फिल्म ‘आंधी’ में भी इंदिरा गांधी के किरदार को गलत तरीके से पेश करने का आरोप लगाते हुए कांग्रेस ने इसका विरोध किया था। प्रकाश झा की फिल्म ‘राजनीति’ को लेकर भी कांग्रेस ने आपत्ति जताई थी। हालांकि तब पार्टी ने खुलकर विरोध नहीं किया था।