Home टेलीविजन

‘बिग बॉस-11’ के सेट पर चला बुलडोजर, तोड़े गए अवैध टॉयलेट्स

Published:
SHARE

1/5अवैध रूप से बनाए थे टॉयलेट्स

Bigg Boss 11 Lonavala Municipal Council Bulldozer Demolished 13 Illegal Toilet Blocks On Sets News in Hindi

टीवी रिएलिटी शो ‘बिग बॉस-11’ अपने पूरे शबाब पर है, वहीं इस बीच शो के सेट पर नगर निगम ने बुलडोजर चलवा दिया है। लोनावला म्युनिसिपल काउंसिल (LMC) ने सोमवार को ‘बिग बॉस’ के सेट पर बुलडोजर चलाकर वहां बने 13 अवैध टॉयलेट्स को तोड़ दिया है।

2/5पहले ही जारी किया गया था नोटिस

Bigg Boss 11 Lonavala Municipal Council Bulldozer Demolished 13 Illegal Toilet Blocks On Sets News in Hindi

म्युनिसिपल के अतिक्रमण विरोधी दल के इस कदम का ‘बिग बॉस’ के स्टाफ ने काफी विरोध भी किया, लेकिन टॉयलेट्स अवैध थे इसलिए उन्हें तोड़ दिया गया। रिपोर्ट्स के मुताबिक, काउंसिल की तरफ से इस मामले में पहले ही टीवी शो के निर्माताओं को नोटिस जारी किया गया था।

ये भी पढ़ें- क्या सच में इस कारण शिल्पा शिंदे जीतेंगी ‘बिग बॉस-11’ का ताज?

3/5एक हफ्ते बाद भी नहीं आया जवाब

Bigg Boss 11 Lonavala Municipal Council Bulldozer Demolished 13 Illegal Toilet Blocks On Sets News in Hindi

एलएमसी के सीईओ सचिन पवार का कहना है, ‘हमने उन्हें 27 नवंबर को नोटिस भेजा था। लेकिन जब सात दिनों के बाद भी उनकी ओर से कोई जवाब नहीं मिला, तब वहां बने अवैध टॉयलेट्स को तोड़ दिया गया।’ उन्‍होंने बताया कि उन 13 टॉयलेट ब्लॉक्स के अलावा वहां कुछ ऐसे ब्लॉक्स भी थे, जिनके निर्माण के लिए स्वीकृति दी गई थी। उन्‍हें जस का तस छोड़ दिया गया है।

4/5नियमों के तहत की गई कार्रवाई

Bigg Boss 11 Lonavala Municipal Council Bulldozer Demolished 13 Illegal Toilet Blocks On Sets News in Hindi

पवार ने बताया कि बॉम्बे प्रोविंशियल म्युनिसिपल कॉर्पोरेशन एक्ट (बीपीएमसी) के तहत यह कार्रवाई की गई है। इस एक्ट के तहत किसी अवैध निर्माण के खिलाफ नोटिस भेजने के 1 दिन के अंदर ही उसे गिराया जा सकता है।

ये भी पढ़ें- Bigg Boss 11 से बाहर हुई बंदगी, पुनीश का रो-रोकर बुरा हाल

5/5स्‍टाफ्स ने किया विरोध

Bigg Boss 11 Lonavala Municipal Council Bulldozer Demolished 13 Illegal Toilet Blocks On Sets News in Hindi

उन्‍होंने आगे कहा कि नोटिस भेजने के सात दिनों के बाद भी किसी बिग बॉस स्टाफ ने इस मामले में बात करना जरूरी नहीं समझा। अवैध टॉयलेटों को गिराते वक्त कुछ लोगों द्वारा विरोध भी किया गया, लेकिन हमारी टीम ने इन विरोधों के बाद भी अपना काम किया और अवैध निर्माण को ढहा दिया गया।