Home वीडियो

द ब्रदरहुड Trailer: ….क्‍योंकि सबकुछ मजहब ही नहीं होता

Published:
SHARE

1/4एक घटना ने जब दिल दहलाया

dadri

कुछ समय पहले की बात है। नोएडा से कुछ दूर दादरी के पास बसे बिसाहड़ा गांव में कथित गोहत्या के कारण एक मुस्लिम व्‍यक्‍ति‍ की भीड़ ने हत्या कर दी। मीडिया से लेकर सोशल मीडिया तक मामला छाया रहा। लोगों के मन में ये बात घर कर गई है कि यहां दोनों समुदायों में प्यार नहीं होगा, लेकिन एक डाक्यूमेंटी आई है। इसका नाम है ‘द ब्रदरहुड’। इसमें दिखाया गया है कि यहां दोनों मजहब के लोग प्यार-मोहब्बत से रह रहे हैं।

2/4वो गांव जो एक-दूसरे को मानते हैं भाई

hindu muslim bhai bhai

‘द ब्रदरहुड’ दो गावों की कहानी है। इलाके के गांव घोड़ी बछेड़ा और तिल बेगमपुर इसके केंद्र में हैं। घोड़ी बछेड़ा हिंदू ठाकुरों का गांव है, जबकि तिल बेगमपुर मुस्लिम ठाकुरों का। घोड़ी बछेड़ा के लोग तिल बेगमपुर के लोगों को अपना बड़ा भाई मानते हैं। इस प्यार के पीछे एक लंबा इतिहास है। 24 मिनट की ‘द ब्रदरहुड’ में वही इतिहास बताया गया है।

3/4एक पत्रकार ने की है पहल

the brotherhood

आज एक तरफ लगता है कि दोनों धर्मों के बीच दीवारें खड़ी की जा रही हैं, वहीं ‘द ब्रदरहुड’ इन दीवारों पर प्रहार करती नजर आती है। इसके निर्देशक पंकज पराशर हैं। वो पेशे से पत्रकार हैं। इसको बनाने में ग्रेटर नोएडा प्रेस क्लब का सहयोग रहा है। हेमंत राजौरा फिल्‍म के अस्सिटेंट डायरेक्‍टर हैं।

4/4यहां देखें इसका ट्रेलर-

SHARE